A बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहीम

कई लोग जिन्नात को हमजाद के नाम से भी जानते है | अगर जिन्नात को आप अपने काबू में कर ले या उसे खुश कर दे तो वो आपकी हर मुराद पूरी कर देता है | इस्लाम-ए-पाक में भी जिन्नात का ज़िक्र है | मौलवी सूफी सुल्तान जी एक मात्र ऐसी व्यक्ति है जिन्हें कुरान-ए-शरीफ का इल्म और अल्लाहताला का रहमो-करम के कारण जिन्नात का दीदार हुआ है | अल्लाहताला के फज्लो करम से मौलवी जी ने कई लोगो को भी उनका दीदार कराया है और अपने तजुर्बे व कुरान-ए-पाक के वजीफा, अमल और दुआ से कई लोगो की मायूस जिंदगी में सुकून अता फ़रमाया है |

Jinnat ko bulane ka amal.jpg

जिन्नात को बुलाने या देखने का अमल तरीका

  1. सोने से पहले वुजू करके बिस्तर पर जाये |
  2. 4 कागज के टुकड़े ले कर उन पर ये 4 नाम लिख दे |
  3. फिरोन, करुण, शदाद, हामान
  4. अब इन कागज के टुकडो को अपने बिस्तर के 4 कोनो पर रख दे |
  5. सुबह ये चारो कागज के टुकडो को जला दे |
  6. ऐसा 21 दिन तक करना है इंशाल्लाह 21 दिन के अंदर आपकी हमजाद/जिन्नात से बात शुरू हो जाएगी |

Jinnat - Ghosts (Horror Story in Urdu)

नोट:- 1. इस अमल को बिना मशवरे के ना करे | अमल की इज़ाज़त जरुरी है |

  1. 2. इस अमल को करते वक़्त किसी से बात न करे न किसी को खबर होने दे |

इस तरह से करने पर इंशाल्लाह आपको हमजाद/जिन्नात का सपनो में दीदार जरुर होगा | सपनो में ही हमजाद को अपना जरुरी काम बता दे | इंशाल्लाह वो आपका काम हकीक़त में कर देंगे | आमीन

अमल को करने से पहले मौलवी जी से मशवरा जरुर करे क्योंकि सही से किया गया अमल हमेशा कारगर साबित होता है |

Contact Detail

Call or whatsapp: – +91-8289039485

Website:http://www.duaforlostlove.com/

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s